Vatican Radio HIndi

गिरजाघरों पर हमलों के विरुद्ध प्रार्थना समारोहों की योजना

In Church on March 3, 2015 at 12:27 pm


भोपाल, मंगलवार, 3 मार्च 2015 (ऊका समाचार): भारत के ख्रीस्तीय देश के कम से कम 100 शहरों एवं नगरों में तीन दिवसीय प्रार्थना समारोहों का आयोजन कर गिरजाघरों पर हमलों तथा ख्रीस्तीय समुदाय के विरुद्ध जारी घृणा अभियान को रोकने के लिये एकजुट होंगे।

भारत के ख्रीस्तीय पुरोहितों की ओर से जबलपुर के मैथोडिस्ट चर्च के पादरी एफ.जे. वालसालेन ने यह बात रविवार को डी.एन.ए. समाचार से कही।

उन्होंने कहा, “हम 04 मार्च से 06 मार्च तक सभी गिरजाघरों तीन दिवसीय प्रार्थना समारोहों का आयोजन कर रहे हैं।”

पादरी वालसालेन ने बताया कि मध्यप्रदेश के इन्दौर, जबलपुर, उज्जैन, दामोह, ग्वालियर तथा भोपाल के समस्त गिरजाघरों में प्रार्थना सभाएँ होंगी।

उन्होंने कहा, “हम अशांत समय से गुजर रहे हैं …. हमारे गिरजाघरों पर हमला किया जा रहा है और झूठे मामलों में हमारे पुरोहितों को फंसाया जा रहा है तथा ख्रीस्तीयों को बदनाम करने के लिये उनके विरुद्ध अभियान चलाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त, दक्षिण पंथी हिन्दु संगठनों द्वारा बलात चलाया जा रहा “घर वापसी” अथवा पुनर्धर्मान्तरण अभियान हमारी पीड़ा का कारण बन रहा है।”


(Juliet Genevive Christopher)

हिन्दू चरमपंथियों ने ईसाई प्रार्थना सभा को किया भंग

In Church on March 3, 2015 at 12:26 pm


अलीराजपुर, मंगलवार, 03 मार्च 2015 (ऊका समाचार): मध्यप्रदेश स्थित अलीराजपुर ज़िले के जोबट नगर में रविवार को हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने ख्रीस्तीयों पर धर्मान्तरण का आरोप लगाते हुए रविवारीय प्रार्थना सभा के वक्त हंगामा मचाया।

ऊका समाचार के अनुसार जोबट के झाबुआ रोड पर स्थित एक गिरजाघर में प्रातः 10 बजे प्रार्थना सभा के शुरु होते ही हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ता वहाँ पहुँच गये तथा लगभग एक घण्टे तक ख्रीस्तीय विरोधी नारे लगाते रहे। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद प्रार्थना सभा को जारी रखा जा सका।

चर्च ऑफ नॉर्थ इन्डिया के पादरी इम्मानुएल आरियल ने इन्डियन एक्सप्रेस समाचार को बताया कि हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ता पुलिस के घटनास्थल पर पहुँचने तक ख्रीस्तीय विरोधी नारे लगाते रहे तथा विरोध प्रदर्शन के दौरान ख्रीस्तीयों का अपमान करते रहे।

जोबट के पुलिस अधिकारी आनंद सिंह वास्कले ने बताया कि हिंदू जागरण मंच का आरोप है कि हर रविवार इस परिसर में ग्रामीण आदिवासियों को प्रलोभन देकर उनका धर्म परिवर्तन किया जाता है। हिंदू जागरण मंच की ओर से जोबट पुलिस थाने में एक ज्ञापन सौंपा गया है जिसकी जांच की जा रही है जबकि दूसरे पक्ष की ओर से कोई आवेदन या शिकायत पुलिस को नहीं की गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पादरी आरियल ने कहा कि ख्रीस्तीय समुदाय ने पुलिस में शिकायत नहीं की है क्योंकि हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्त्ताओं के चले जाने के बाद प्रार्थना सभा सुचारू रूप से जारी रही।


(Juliet Genevive Christopher)

उत्तरी अफ्रीका की कलीसियाओं के प्रति सन्त पापा ने प्रकट किया आभार

In Church on March 3, 2015 at 12:06 pm


वाटिकन सिटी, मंगलवार, 03 मार्च, सन् 2015 (सेदोक): सन्त पापा फ्राँसिस ने लिबिया एवं उत्तरी अफ्रीका के कलीसियाई समुदायों के साहस के लिये उनके प्रति आभार व्यक्त किया है।

मोरॉक्को, आलजिरिया,ट्यूनिशिया एवं लिबिया के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन “चेरना” के सदस्य धर्माध्यक्षों को, सोमवार को, सम्बोधित कर सन्त पापा फ्राँसिस ने कहा कि उत्तरी अफ्रीका के कलीसियाई समुदाय विश्व के उन क्षेत्रों में शांतिपूर्ण उपस्थिति का प्रमाण हैं जहाँ अन्तःकरण की स्वतंत्रता पर ख़तरा बना हुआ है।

इस बात के मद्देनज़र कि विगत कुछेक वर्षों में उत्तरी अफ्रीका अन्तःकरण की स्वतंत्रता तथा अस्त्रों सहित परिवर्तनों को थोपने की रणभूमि बनी हुई है सन्त पापा ने धर्माध्यक्षों एवं ख्रीस्तीय समुदायों के साहस के लिये उनके प्रति हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित किया।

सन्त पापा ने लिबिया की कलीसिया, यहाँ के पुरोहितों एवं लोकधर्मियों द्वारा दर्शाये गये साहस, निष्ठा एवं दृढ़ प्रतिज्ञता के लिये आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा, “यही लोग सुसमाचार के सच्चे साक्षी हैं।”

विश्व के उस क्षेत्र में शान्ति एवं पुनर्मिलन की स्थापना हेतु कार्य करते रहने के लिये सन्त पापा ने उन्हें समर्थन दिया तथा प्रार्थना में सदैव उनके समीप रहने का आश्वासन प्रदान किया।


(Juliet Genevive Christopher)

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.

Join 69 other followers

%d bloggers like this: