Vatican Radio HIndi

Archive for March 4th, 2017|Daily archive page

ख्रीस्तीय धार्मिक संगीत के नवीनीकरण हेतु संत पापा का परामर्श

In Church on March 4, 2017 at 3:12 pm

वाटिकन सिटी, शनिवार, 4 मार्च 2017 (वीआर सेदोक): संत पापा फ्राँसिस ने शनिवार 4 मार्च को वाटिकन स्थित क्लेमेंटीन सभागार में ख्रीस्तीय धार्मिक संगीत (सेक्रेड म्यूजिक) के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के प्रतिभागियों से मुलाकात कर कहा कि अतीत से मिले समृद्ध और विविध विरासत की रक्षा करने और उसे बढ़ावा देने के लिए उनका प्रयोग, वे संतुलित मन से करें और उसे उदासीन या “पुरातात्विक” दृष्टिकोण के खतरे से बचायें।

द्वितीय वाटिकन महासभा के दस्तावेज ‘मुसिकम साक्रुम’ की 50वीं वर्षगाँठ पर, संस्कृति एवं काथलिक शिक्षा को प्रोत्साहन देने हेतु गठित परमधर्मपीठीय समिति तथा संत अंसेलेम विश्वविद्यालय के संगीत एवं धर्मविधिक संस्था के संयुक्त पहल पर आयोजित सम्मेलन में भाग लेने हेतु विश्व के विभिन्न हिस्सों से आये 400 प्रतिभागियों ने संत पापा से मुलाकात की।

प्रतिभागियों को सम्बोधित कर संत पापा ने कहा, ″निश्चय ही आधुनिकता एवं [स्थानीय भाषा] की शुरूआत के साथ पूजन पद्धति में, संगीत की भाषा, रूपों और शैलियों की कई समस्याएँ उभर आती हैं।

उन्होंने कहा कि कभी कभी एक निश्चित सामान्यता, अल्पज्ञता और नण्यता, धर्मविधि समारोह पर प्रबल हो जाती हैं।

संत पापा ने प्रोत्साहन दिया कि धार्मिक संगीत के क्षेत्र में कलाकार, संगीत निर्माता, निर्देशक, संगीतकार एवं गायक दल, धर्मविधि में अगुवाई करने हेतु आगे आये ताकि उनके बेहतर योगदान द्वारा धार्मिक संगीत एवं धर्मविधि भजनों का नवीनीकरण हो सके।

उन्होंने कहा, ″इस प्रक्रिया को सुविधाजनक बनाने के लिए हमें उपयुक्त संगीत शिक्षा को प्रोत्साहन देना होगा, विशेषकर, जो पुरोहित बनने की तैयारी कर रहे हैं और जो संगीत पर रुचि रखते हैं तथा विभिन्न सांस्कृतिक क्षेत्रों से आते हैं साथ ही साथ ख्रीस्तीय एकता वर्धक वार्ता की भावना को भी ध्यान में रखा जाना चाहिए।″


(Usha Tirkey)

Advertisements

सन्त पापा फ्राँसिस ने ईराक के नये राजदूत का प्रत्यय पत्र स्वीकार किया

In Church on March 4, 2017 at 3:08 pm

वाटिकन सिटी, शनिवार, 4 मार्च 2017 (सेदोक): सन्त पापा फ्राँसिस ने, शनिवार को, परमधर्मपीठ के लिये नई इराकी राजदूत अहमद ओमर करीम बेरज़िंजी का प्रत्यय पत्र स्वीकार किया।

नवनियुक्त राजदूत बेरज़िंजी का जन्म 10 जनवरी सन् 1960 ई. में हुआ था। वे विवाहित हैं एवं चार संतानों के पिता हैं। उन्होंने बागदाद विश्व विद्यालय से स्नातक की उपाधि प्राप्त की है।

वाटिकन के लिए इराकी राजदूत ने कई विभिन्न पदों पर कार्य किया है। सन् 1984 से 2004 तक वे वकील संघ के सदस्य तथा न्यायविद इराकियों के संघ के सदस्य रहे, साथ ही, फ्रांस में मानव विज्ञान के लिए यूरोपीय संस्थान / अरबी भाषा और इस्लामी इतिहास के लिए डच विभाग के प्रोफेसर का काम किया। ईराक के विदेश मामलों के मंत्रालय के राजनयिक संस्थान में राजनयिकों के लिए आयोजित पाठ्यक्रम में वे मानवाधिकार के प्रोफेसर भी रहे। 2004 से 2009 तक मानवाधिकार के लिए विभाग के प्रमुख के साथ विदेश मामलों के मंत्रालय में राजदूत रहे। 2009 से 2013 तक लेबनान तथा 2013 से 2015 तक रोमानिया के राजदूत के रूप में कार्य किया तथा 2015 में कानूनी मामलों और बहुपक्षीय संबंध के लिए उपसचिव का कार्यभार सँभाला।

वे अरबी, कुर्दिश, तुरकी, अंग्रेजी, डच तथा फ़ारसी भाषाओं के कुशल जानकार हैं।


(Usha Tirkey)

मार्च एवं अप्रैल माह में संत पापा के धर्मविधिक कार्यक्रमों की सूची

In Church on March 4, 2017 at 3:04 pm

 

वाटिकन सिटी, शनिवार, 4 मार्च 2017 (वीआर सेदोक): वाटिकन ने मार्च एवं अप्रैल माह में संत पापा के धर्मविधिक कार्यक्रमों की सूची को प्रकाशित कर दिया है।

संत पापा के धर्मविधिक कार्यक्रमों का आयोजन करने वाली परमधर्मपीठीय समिति द्वारा शुक्रवार को प्रकाशित कार्यक्रम इस प्रकार हैं- 17 मार्च रोम समयानुसार संध्या 7 बजे, वाटिकन स्थित संत पेत्रुस महागिरजाघर में संत पापा फ्राँसिस पश्चाताप की धर्मविधि का अनुष्ठान करेंगे। वे 25 मार्च को प्रेरितिक यात्रा हेतु मिलान जायेंगे।

2 अप्रैल को संत पापा इटली के कार्पी शहर का दौरा करेंगे। 9 अप्रैल को खजूर रविवार तथा प्रभु के दुखभोग समारोह के अवसर पर वे संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण पर, प्रभु का येरूसालेम में प्रवेश की यादगारी मनायेंगे तथा समारोही ख्रीस्तयाग अर्पित करेंगे। 13 अप्रैल पुण्य बृहस्पतिवार को प्रातः 9.30 बजे संत पेत्रुस महागिरजाघर में कारिस्मा मिस्सा होगा। 14 अप्रैल पुण्य शुक्रवार संध्या 5 बजे संत पेत्रुस महागिरजाघर में प्रभु के दुखभोग की धर्मविधि का अनुष्ठान करेंगे तथा सांय 9.15 बजे रोम के कोलोसेयुम में क्रूस रास्ता का नेतृत्व करेंगे। 15 अप्रैल पुण्य शनिवार को संध्या 8.30 संत पेत्रुस महागिरजाघर में पास्का रात्रि जागरण मिस्सा का अनुष्ठान करेंगे।

16 अप्रैल पास्का महापर्व के उपलक्ष्य में 10 बजे प्रातः संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में समारोही ख्रीस्तयाग अर्पित करेंगे तथा मध्याह्न को संत पेत्रुस महागिरजाघर की बालकनी से रोम तथा विश्व के लिए अपने संदेश ‘उरबी एत ओरबी’ प्रदान करेंगे।


(Usha Tirkey)

″परमधर्मपीठ में ट्वीटर कूटनीति″विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला

In Church on March 4, 2017 at 3:02 pm

वाटिकन सिटी, शनिवार, 4 मार्च 2017 (वीआर सेदोक): ″परमधर्मपीठ में ट्वीटर कूटनीति″ विषय पर वाटिकन में शुक्रवार को एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया था। कार्यशाला का आयोजन संचार के लिए वाटिकन सचिवालय तथा वाटिकन के लिए ब्रिटिश दूतावास ने की।

कार्यशाला में वाटिकन के लिए ब्रिटिश राजदूत सैली ऑक्सवदी तथा ऑस्ट्रिया के राजदूत लेह तुरनर, हंगरी के राजदूत एडवर्ड हब्सबर्ग तथा ओसरवातोरे रोमानो के निदेशक प्रोफेसर जोवान्नी मरिया वियन ने भाग लिया।

संचार के लिए वाटिकन सचिवालय के सचिव ने कहा, ″जहाँ लोग हैं वहीं कलीसिया है। यही कारण है कि संत पापा ट्वीटर एवं इंस्टाग्राम से जुड़े हैं।″

उन्होंने कहा कि कार्यशाला में राजनयिक तथा अन्य हस्ती हिस्सा ले रहे हैं जो वाटिकन एवं कलीसिया में, सामाजिक संचार माध्यमों, खासकर, ट्वीटर के माध्यम से सुसमाचार का संदेश फैलाना चाहते हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रतिभागियों ने अपना अनुभव तथा सुझाव पेश किया तथा उन माध्यमों को प्रस्तुत किया जिसमें सामाजिक नेटवर्क के प्रसार के बाद संचार में परिवर्तन आया है। उन्होंने विशेष ध्यान संत पापा द्वारा ट्वीटर एकाउट के माध्यम से 32 मिलीयन लोगों के साथ 9 भाषाओं में जुड़ने की बात पर दी।

उन्होंने संत पापा को सामाजिक नेटवर्क में एक नेता करार दिया क्योंकि वे विभिन्न विषयों पर अपने विचार रखने के द्वारा विभिन्न लोगों; ख्रीस्तीयों के साथ साथ ग़ैरख्रीस्तीयों के मन और हृदय को स्पर्श करना जानते हैं।

वाटिकन में ब्रिटिश राजदूत सैली ऑक्सवर्दी ने वाटिकन रेडियो से कहा कि कूटनीति में डिजिटल आयाम एक बड़ी भूमिका निभाती है। उन्होंने कहा कि कई अवसरों पर परमधर्मपीठ तथा अंतरराष्ट्रीय राजनयिक एक-दूसरे के साथ सहयोग करने हेतु ट्वीट का सहारा लेते हैं।

ऑक्सवर्दी ने उस बात को रेखांकित किया कि संत पापा ने यह सिद्ध कर दिया है कि सामाजिक नेटवर्क सामान्य हित के विषयों पर, एक अत्यंत व्यापक जनता तक पहुँचने में मदद कर सकता है।


(Usha Tirkey)

संत पापा करेंगे यूरोपीय संघ के अधिकारियों से मुलाकात

In Church on March 4, 2017 at 3:01 pm

वाटिकन सिटी, शनिवार, 4 मार्च 2017 (वीआर सेदोक): वाटिकन प्रेस कार्यालय के निर्देशक एवं वाटिकन प्रवक्ता ग्रेग बर्ग ने शुक्रवार को इस बात की जानकारी दी कि संत पापा फ्राँसिस 24 मार्च को यूरोपीय संघ के अधिकारियों के साथ मुलाकात करेंगे।

यूरोपीय संघ के अधिकारी रोम संधि की 60वीं वर्षगाँठ मनाने हेतु रोम में एकत्रित होंगे।

ग्रेग बर्ग ने बतलाया कि संत पापा के साथ उनकी मुलाकात प्रेरितिक आवास के रेजिना सभागार में होगी।

संत पापा ने यूरोपीय संघ को प्रोत्साहन देने हेतु प्रदान की जाने वाली चार्लेमागने पुरस्कार वितरण समारोह के अवसर पर गत वर्ष मई महीने में यूरोपीय संघ के अधिकारियों को सम्बोधित किया था।

यूरोपियन संघ मुख्यत: यूरोप में स्थित 28 देशों का एक राजनैतिक एवं आर्थिक मंच है जिनमें आपस में प्रशासकीय साझेदारी होती है जो संघ के कई या सभी राष्ट्रों पर लागू होती है। इसका अभ्युदय 1957 में रोम की संधि द्वारा यूरोपीय आर्थिक परिषद के माध्यम से छह यूरोपीय देशों की आर्थिक भागीदारी से हुआ था।


(Usha Tirkey)

%d bloggers like this: