Vatican Radio HIndi

Archive for June 5th, 2017|Daily archive page

कोनसोलाता मिशनरियों के आमसभा प्रतिभागियों को संत पापा का संदेश

In Church on June 5, 2017 at 3:30 pm

 

वाटिकन सिटी, सोमवार 5 जून 2017 (वीआर रेई) : सोमवार 5 जून को वाटिकन के संत क्लेमेंटीन सभागार में संत पापा फ्राँसिस ने कोनसोलाता मिशनरी पुरोहितों और धर्मबहनों की आमसभा सम्मेलन के 120 प्रतिभागियों से मुलाकात की।

संत पापा ने खुशी जाहिर करते हुए कहा,″ धन्य जोसेफ अल्लामानो द्वारा पुरोहितों और धर्मबहनों हेतु स्थापित कोनसोलाता मिशनरी धर्मसमाज के आम सभा में भाग लेने वाले प्रतिभागियों से मिलकर मैं बहुत खुश हूँ। मुझे आशा है कि पवित्र आत्मा की अगुवाई में आप महासभा आप शांतिपूर्वक संपन्न करेंगे।

मैं विभिन्न देशों में लोगों के बीच कठिन परिस्थितियों में भी लोगों की सेवा में समर्पित आपकी संस्था के सभी सदस्यों का अभिवादन करते हुए आपके प्रेरिताई कार्यों के लिए धन्यवाद देता हूँ।

मैं आपके मिशनरी कार्यों के फलप्रद बनाने हेतु कुछ सुझाव देना चाहता हूँ। आप वर्तमान स्थिति के देखते हुए सावधानी के साथ अपने धर्मसमाज के कारिस्मा पर आत्म परीक्षण करें। अफ्रीका और लतीनी अमेरिका के गरीब देशों में गरीब और अनेक बीमारियों से लाचार लोगों की सेवा से कभी पीछे न हटें।

मिशन क्षेत्र में आप वहाँ की वास्तविक परिस्थिति के संपर्क में आते हैं। आप ईश्वर के प्रेम, जो आपके हृदय में उमड़ता है,से प्रेरित होकर उदारता पूर्वक लोगों की सेवा करें। आशा के साथ अपनी यात्रा जारी रखें। आपका मिशनरी अभिषेक येसु के साथ अधिक से अधिक लोगों के लिए उसके प्रेम,शांति और सांत्वाना का श्रोत बनें।


(Margaret Sumita Minj)

Advertisements

ख्रीस्त के पावन शरीर और रक्त के महोत्सव पर पवित्र मिस्सा और जुलूस का आयोजन

In Church on June 5, 2017 at 3:28 pm

वाटिकन सिटी, सोमवार 5 जून 2017 (वीआर रेई) : परमधर्मपीठीय धर्मविधि प्रबंधन समिति के अध्यक्ष मोन्सिन्योर ग्वीदो मरीनी ने सूचित किया है कि रविवार 18 जून 2017 को ख्रीस्त के पावन शरीर और रक्त के महोत्सव के अवसर पर संध्या 7 बजे संत पापा फ्राँसिस संत जोन लातेरन महागिरजाघर के प्रांगण में समारोही ख्रीस्तयाग का अनुष्ठान करेंगे।

इसके पश्चात विश्वासियों के साथ संत पापा फ्राँसिस संत जोन लातेरन महागिरजाघर के प्रांगण से पवित्र साक्रामेंट को जुलूस के साथ विया मेरुलाना होते हुए संत मरिया मेजर महागिरजाघर पहुचेंगे और वहाँ पवित्र साक्रामेंट की आराधना और आशीष होगी।


(Margaret Sumita Minj)

संत पापा फ्राँसिस द्वारा विश्व मिशन रविवार के संदेश की घोषणा

In Church on June 5, 2017 at 3:27 pm

वाटिकन सिटी, सोमवार 5 जून 2017 ( वाटिकन रेडियो) : संत पापा फ्राँसिस ने इस वर्ष के विश्व मिशन दिवस 15 अक्टूबर के लिए अपने संदेश की घोषणा की।

संत पापा ने रविवार पेंतेकोस्त महापर्व के अवसर पर संत पेत्रुसमहागिरजाघर के प्रांगण में समारोही ख्रीस्तयाग अर्पित करने का बाद स्वर्ग की महारानी प्रार्थना का पाठ करने से पूर्व वहाँ उपस्थित विश्वासियों के समक्ष 2017 के मिशन रविवार के लिए अपना संदेश जारी किया, जो ‘ख्रीस्तीय विश्वास का केंद्र मिशन’ पर केंद्रित है।

संत पापा ने अपने संदेश में लिखा कि इस वर्ष हम पुनः एकबार विश्व मिशन दिवस पर “सबसे पहले और महान सुसमाचार प्रचारक” येसु मसीह ने नाम पर एकत्रित हुए हैं (एवांजली नुन्सियांदी- 7), जो हमें पवित्र आत्मा की शक्ति में पिता ईश्वर के प्रेम के सुसमाचार की घोषणा करने के लिए लगातार भेजते हैं। यह दन हमें आमंत्रित करता है कि हम नये तरीके से ‘ख्रीस्तीय विश्वास का केंद्र मिशन’ पर मनन चिंतन करें।

संत पापा ने लिखा कि मसीह के सुसमाचार की परिवर्तनकारी शक्ति और मिशन, मार्ग, सत्य और जीवन है। कलीसिया का मिशन, सुसमाचार की परिवर्तनकारी शक्ति पर आधारित, सभी भले पुरुषों और महिलाओं को निर्देशित करता है। प्रभु का सुसमाचार आनन्द से भरा सुसमाचार है और यह नया जीवन प्रदान करता है। जी उठे प्रभु येसु ख्रीस्त जो अपना जीवन देने वाला आत्मा प्रदान करके, हमारे लिए मार्ग, सत्य और जीवन बन गये हैं।(योहन, 14:6)

कलीसिया का मिशन मसीह द्वारा उद्धार का अवसर है। मिशन लगातार पलायन, तीर्थ यात्रा और निर्वासन की आध्यात्मिकता को प्रेरित करता है। युवा लोग, मिशन की आशा हैं। येसु मसीह आज भी सुसमाचार का प्रचार करने हेतु कई युवा लोगों को आकर्षित करना जारी रखा है। वे साहस और उत्साह के साथ मानवता की सेवा में खुद को समर्पित करने के तरीकों की तलाश करते हैं।

विश्व मिशन दिवस पर संत पापा ने सुसमाचार प्रचार में संलग्न परमधर्मपीठीय मिशन सोसाइटी की सेवा की सराहना करते हुए कहा कि परमधर्मपीठीय मिशन सोसाइटी हर ख्रीस्तीय समुदाय में सभी के लिए सुसमाचार की घोषणा करने के क्रम में अपनी सीमाओं और सुरक्षा से परे पहुंचने की इच्छा हेतु जागरूकता लाने का एक अनमोल साधन है।

संदेश के अंत में संत पापा ने सुसमाचार प्रचारक माता मरियम से प्रेरणा लेते हुए उनके साथ सुसमाचार प्रचार के कार्यों को जारी रखने की प्रेरणा दी।


(Margaret Sumita Minj)

पवित्र आत्मा के वरदान सभी के लिए है, संत पापा फ्राँसिस

In Church on June 5, 2017 at 3:26 pm

रोम, सोमवार 5 जून 2017 ( सीएनए) : संत पापा फ्राँसिस ने शनिवार 3 जून को रोम स्थित चिरको मास्सिमुस मैदान में पेन्तेकोस्त महात्योहार के जागरण प्रार्थना हेतु एकत्रित 50 हजार से भी अधिक तीर्थयात्रियों और विश्वासियों को संबोधित करते हुए कहा, ″अच्छे कार्यों और प्रार्थना के माध्यम से हम ख्रीस्तीय एकता के मार्ग पर आगे बढ़ रहें हैं। हमें एक चीज हमेंशा याद रखनी चाहिए कि पवित्र आत्मा के वरदान सभी के लिए है।″

संत पापा ने कहा,″पवित्र आत्मा के वरदानों को आप कलीसिया में सबके साथ बांटे, प्रभु की स्तूति करते रहें। विभिन्न कलीसियाओं और ख्रीस्तीय समुदायों के साथ मिलकर प्रार्थना और गरीबों की मदद हेतु अपना योगदान दें। पवित्र आत्मा की कृपा कुछ लोगों के लिए नहीं लेकिन पूरी कलीसिया के लिए है। हम में से कोई भी मालिक और दूसरे सेवक नहीं हैं। हम सभी पवित्र आत्मा के अनुग्रह से सेवा कार्य में संलग्न हैं।″

अंतरराष्ट्रीय काथलिक करिस्माई आंदोलन द्वारा इसके 50 वर्षीय जुबली के अवसर जागरण प्रार्थना का आयोजन किया गया था। जागरण प्रार्थना में अंतरराष्ट्रीय काथलिक करिस्माई नवीनीरकण आंदोलन के धार्मिक नेता,एवांजेलिकल, पेंटेकोस्टल और अन्य ख्रीस्तीय कलीसिया के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। अन्य धार्मिक नेताओं के अलावा संत पापा के उपदेशक फादर रानिएरो कांतालामेसा ओ.एफ.एफ. ने भी प्रवचन दिया।

सभा में उपस्थित विश्वासियों के संत पापा ने यह कहते हुए याद दिलाया कि ख्रीस्तीय एकता हेतु किया गया उनका काम सराहनीय है और इसे किन्ही भी कारणों से रुकना नहीं चाहिए। हमने बहुत ही मूल्यवान उपहार पाई है और वह है हमारा बपतिस्मा और अब आत्मा हमें मन परिवर्तन के रास्ते पर ले जाता है जो संपूर्ण ख्रीस्तीयों के लिए है।

प्रभु की स्तूति के साथ-साथ जरुरतमंदों की सेवा भी होनी चाहिए। कलीसिया के परमधर्मगुरु और कलीसिया आप काथलिक करिस्माई नवीकरण आंदोलन के हर सदस्य से अपेक्षा करती है कि आप बीमारों और गरीब से गरीब लोगों की सेवा करें।

संत पापा ने कहा,″आप अपने समुदाय का 50वी वर्षगांठ मना रहे हैं यह समय थोड़ा रुकने और चिंतन करने का उपयुक्त अवसर है। आज हम खुले आसमान तले एकत्रित हैं क्योंकि हमें किसी तरह का भय नहीं है। और ईश्वर ने जो प्रतिज्ञा की थी उसके लिए हमने अपना हृदय खोल दिया है। हम सब मिलकर स्वीकार करते हैं कि येसु ही प्रभु हैं।″

आप यब दुनिया के विभिन्न भागों से आये हैं पर पवित्र आत्मा में हम सब एक हैं। हम सब मिलकर पिता ईश्वर का अपने बच्चों के लिए प्रेम को एक साथ घोषित करते हैं। सभी लोगों के समक्ष शुभ समाचार की घोषणा करनी है! हमें यह दिखाना है कि शांति संभव है।

यह दिखाना कि शांति संभव है यह सभी समय बहुत आसान नहीं है पर येसु के नाम में हम गवाही दे सकते हैं कि दुनियां में शांति संभव है। जयंती, उत्साह, आनन्द, पवित्र आत्मा का ही फल है। जिसके हृदय में सुसमाचर प्रचार करने हेतु आनंद नहीं है इसका मतलब उसमें कुछ बात की कमी है।

संत पापा ने कहा कि वर्तमान में बहुत से ख्रीस्तीयों ने सुसमाचार के प्रचार हेतु अपने प्राणों का बलिदान दिया है। जब उन्हें अपने विश्वास के लिए मार डाला जाता है तो उनसे ये नहीं पूछा जाता है कि क्या तुम ओर्थोडोक्स हो? या काथलिक हो? या एवांजेलिकल हो? या लूथरन हो? या तुम कलवीनिस्ट हो?

संत पापा ने कहा,″आज हम ख्रीस्तीयों को एकसाथ मिलकर पवित्र आत्मा में एकजुट होकर प्रार्थना और उदारता के कार्यों को करते हुए आगे बढ़ने की जरुरत है। एक दूसरे से प्रेम करते हुए और एक साथ काम करते हुए मिलकर आगे बढ़ना है। हमें मिलकर घोषणा करनी है कि येसु ख्रीस्त ही हमारे प्रभु हैं।


(Margaret Sumita Minj)

लंदन में आतंकवादी हमलों के शिकार लोगों के लिए प्रार्थना : संत पापा फ्राँसिस

In Church on June 5, 2017 at 3:24 pm

वाटिकन सिटी, सोमवार 5 जून 2017 (वीआर रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने लंदन आतंकवादी हमलों के शिकार लोगों और उनके परिजनों के लिए प्रार्थना की।

संत पापा ने रविवार पेंतेकोस्त महापर्व के अवसर पर संत पेत्रुसमहागिरजाघर के प्रांगण में समारोही ख्रीस्तयाग अर्पित करने का बाद स्वर्ग की महारानी प्रार्थना का पाठ करने से पूर्व वहीँ उपस्थित विश्वासियों के साथ निम्न प्रार्थना की, ″पवित्र आत्मा पूरे विश्व को अपनी शांति प्रदान करे। युद्ध और आतंकवाद के घावों से लोगों को चंगा करे। लंदन में शनिवार की रात को आतंकी हमले में निर्दोष लोग मारे गये। आइए, हम हमलों के शिकार लोगों और उनके परिजनों के लिए प्रार्थना करें।″

शनिवार रात और रविवार सुबह इंग्लैंड की राजधानी लंदन में दो अलग-अलग जगह हुए आतंकवादी हमलों में सात लोगों की मौत हो गई जबकि 48 घायल हो गए। मेट्रोपॉलिटन पुलिस सहायक आयुक्त मार्क रॉउले ने बताया कि उन्हें लंदन ब्रिज पर शाम 5.08 बजे वैन द्वारा लोगों को कुचले जानी की खबर मिली। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, तेज रफ्तार वैन ने पैदल यात्रियों को कुचल दिया. यह वैन लोगों को कुचलते हुए बोरो बाजार की तरफ बढ़ी, जहां वैन से तीन लोग उतरे और उन्होंने रेस्तरां में लोगों पर चाकू से हमला करना शुरू कर दिया जिसमें एक पुलिसकर्मी भी था। हमलावरों ने चिल्लाकर बार-बार यह कहते हुए कि “यह अल्लाह के लिए है”, पीड़ितों को चाकू से बार-बार वार करते हुए मार दिया।

घटना का पता चलते ही पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और तीन हमलावरों को मार गिराया।


(Margaret Sumita Minj)

मध्य इटली के भूकम्प प्रभावित क्षेत्रों के बच्चों से संत पापा ने मलाकात की

In Church on June 5, 2017 at 3:18 pm

 

वाटिकन सिटी, सोमवार 5 जून 2017 (वाटिकन रेडियो) : संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन के संत पापा पौल छठे सभागार में शनिवार 3 जून को  गत वर्ष मध्य इटली के भूकम्प प्रभावित नोरचा,अकोमोली, अमात्रीचे अरक्वाता देल त्रोंतो और आक्वासांता शहर के बच्चों और किशोरों से मुलाकात की।

बच्चे विशेष रुप से संत पापा फ्राँसिस से मुलाकात करने हेतु ऍ बच्चों के ट्रेन ऍ में सफर कर रोम पहुँचे थे।

संत पापा ने बच्चों से बड़े ही आत्मायता के साथ बातें की। उन्होंने कहा कि मैं कुछ बोलूँ पर मैंने कहा कि मुझे सुनना अच्छा लगता है अतः संत पापा ने उन्हें कहानी बताने के लिए आमंत्रित किया। संत पापा ने कुछ बच्चों को अपने पास बुलाया जिससे कि वे उनसे प्रश्न पूछ सकें और बच्चों का जवाब सुन सके। संत पापा ने उनसे भूकंप के प्रभाव के बारे पूछा और कैसे बच्चों ने तबाही के मद्देनजर प्रतिक्रिया दर्शायी।

12 से भी अधिक बच्चों के साथ व्यक्तिगत बातें करने के पश्चात संत पापा ने सभी बच्चों को संबोधित कर कहा, ऍ आप सबने अपने जीवन में सचमुच बहुत खराब परिस्थिति से गुजरे हैं। यह आपदा बहुत खराब है पर हमें प्रभु फिर से शुरु करने में हमारी मदद करते हैं।

संत पापा ने उनसे पूछा क्या आप प्रभु येसु में विश्वास करते हैं ?

उन्होंने जवाब हाँ में दिया।

संत पापा ने पूछा कि क्या वे माता मरियम में विश्वास करते हैं ?

बच्चों ने हाँ में जवाब दिया। संत पापा ने कहा कि यदि आप प्रभु येसु और माता मरियम में विश्वास करते हैं तो आइये हम एक साथ प्रणाम मरियम प्रार्थना का पाठ कर माता मरिया को धन्यवाद दें। संत पापा ने प्रणाम मरियम प्रार्थना की अगुवाई करने के बाद बच्चों से कहा, ″ एक चीज या एक बात येसु को बहुत पसंद है और वह बात है : आपको बहुत बहुत धन्यवाद ″  अंत में संत पापा ने मुलाकात हेतु आने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।


(Margaret Sumita Minj)

%d bloggers like this: