Vatican Radio HIndi

Archive for March 23rd, 2018|Daily archive page

23 मार्च को सन्त पापा फ्राँसिस ने किया ट्वीट

In Church on March 23, 2018 at 3:46 pm

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 23 मार्च 2018 (रेई, वाटिकन रेडियो): सन्त पापा फ्राँसिस ने ईश्वर के साथ मेलमिलाप एवं बुराई के परित्याग का आह्वान किया है।

शुक्रवार, 23 मार्च के ट्वीट सन्देश में सन्त पापा फ्राँसिस ने लिखा, “ईश्वर के साथ मेलमिलाप का यह उपयुक्त अवसर है। बुराई के पथ पर कायम रहना केवल दुख का स्रोत है।”


(Juliet Genevive Christopher)

Advertisements

वाटिकन ने प्रकाशित किया पुण्य सप्ताह हेतु सन्त पापा फ्राँसिस का कार्यक्रम

In Church on March 23, 2018 at 3:44 pm

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 23 मार्च 2018 (रेई, वाटिकन रेडियो): वाटिकन ने गुरुवार को पुण्य सप्ताह हेतु सन्त पापा फ्राँसिस का कार्यक्रम प्रकाशित किया। येसु मसीह के दुखभोग, क्रूसमरण एवं पुनःरुत्थान के स्मरणार्थ इस वर्ष पुण्य सप्ताह रविवार 25 मार्च से पहली अप्रैल तक मनाया जा रहा है।

रविवार, 25 मार्च को खजूर रविवार के अवसर पर सन्त पापा फ्राँसिस रोम स्थित सन्त पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में धर्मविधिक शोभायात्रा तथा ख्रीस्तयाग समारोह की अध्यक्षता करेंगे। इस दिन धर्मप्रान्तीय स्तर पर युवा दिवस भी मनाया जा रहा है।

पुण्य सप्ताह के गुरुवार यानि 29 मार्च को सन्त पापा सन्त पेत्रुस महागिरजाघर में ख्रीस्तयाग अर्पित कर तेलों पर आशीष देंगे। यह पवित्र तेल स्नान संस्कार,  दृढ़ीकरण, पौरोहित्य तथा रोगियो के अन्तमलन संस्कारों के लिये उपयोग में लाया जाता है। गुरुवार सन्ध्या, सन्त पापा फ्राँसिस रोम स्थित रेजिना चेली नामक बन्दीगृह का दौरा कर यहाँ प्रभु येसु ख्रीस्त के साथ शिष्यो के अन्तिम भोजन की स्मृति में कुछ क़ैदियों के पैर धोयेंगे तथा ख्रीस्तयाग अर्पित करेंगे।

पुण्य शुक्रवार को सन्त पापा सन्त पेत्रुस महागिरजाघर में दुखभोग की धर्मविधि, बाईबिल पाठ, क्रूस की आराधना तथा पवित्र यूखारिस्त की धर्मविधि का नेतृत्व करेंगे। शुक्रवार सन्ध्या रोम स्थित ऐतिहासिक स्मारक कोलोसेऊम में वे क्रूस मार्ग की विनती तथा उसपर चिन्तन का नेतृत्व करेंगे।

पुण्य शनिवार की सन्ध्या सन्त पापा सन्त पेत्रुस महागिरजाघर में पास्का जागरण तथा शनिवार एवं रविवार की मध्यरात्रि प्रभु येसु मसीह के पुनःरुत्थान के स्मरणार्थ ख्रीस्तयाग अर्पित करेंगे जबकि रविवार पहली अप्रैल को पास्का महापर्व के उपलक्ष्य में सन्त पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में ख्रीस्तयाग अर्पण के उपरान्त रोम शहर एवं विश्व के नाम अपना पास्का सन्देश जारी करेंगे।


(Juliet Genevive Christopher)

तायवान के राजदूत को वाटिकन ने परमाध्यक्षीय शूरवीर पदवी से किया सम्मानित

In Church on March 23, 2018 at 3:43 pm

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 23 मार्च 2018 (रेई, वाटिकन रेडियो):  वाटिकन के लिये तायवान के राजदूत मैथ्यू ली को वाटिकन ने उनके कूटनैतिक कार्यों के लिये 15 मार्च को नाइट ग्रैंड क्रॉस ऑफ द ऑर्डर ऑफ पायस नवम शूरवीर पदवी से सम्मानित किया।

नाइट ग्रैंड क्रॉस ऑफ द ऑर्डर ऑफ पायस नवम् पदवी की स्थापना सन्त पापा पियुस नवें ने 1847 ई. में की थी। यह पुरस्कार वाटिकन के लिये कार्यरत राजदूतों को दिया जाता है।

तायवान के राजदूत मैथ्यू ली को उक्त शूरवीर पदवी से सम्मानित करते हुए वाटिकन ने कहा कि यह पुरस्कार श्री मैथ्यू ली को दोनों राष्ट्रों के बीच द्विपक्षीय सम्बन्धों को मज़बूत करने हेतु उनके योगदान  के लिये दिया गया है। साथ ही यह भी कहा गया कि वाटिकन द्वारा आयोजित समारोहों में उत्साहपूर्वक भाग लेने हेतु भी यह पुरस्कार उन्हें प्रदान किया गया है।

राजदूत मैथ्यू ली ने जनवरी 2016 में वाटिकन के लिये अपना राजनयिक मिशन आरम्भ किया था।

नाइट ग्रैंड क्रॉस ऑफ द ऑर्डर ऑफ पायस नवम शूरवीर पदवी वाटिकन के लिये कार्यरत दस अन्य राजदूतों को प्रदान की गई है जिनमें आर्जेन्टीना, ग्रीस, हंगरी, स्लोवेनिया, क्रोएशिया तथा बुरकीना फासो के राजदूत शामिल हैं।

पुरस्कार समारोह से दो दिन पूर्व ही तायवानी राजदूत मैथ्यू ली ने सन्त पापा फ्राँसिस को उनकी पाँचवी परमाध्यक्षीय वर्षगाँठ पर बधाई सन्देश प्रेषित करते हुए आशा व्यक्त की थी कि सन्त पापा तायवान की यात्रा कर सकेंगे। उन्होंने वाटिकन तथा तायवान के बीच मधुर सम्बन्धों को अधिकाधिक मज़बूत करने की वचनबद्धता भी व्यक्त की थी।


(Juliet Genevive Christopher)

गोमाँस आरोप में हत्या के लिये जेल की सज़ा का कलीसियाई नेताओं ने किया स्वागत

In Church on March 23, 2018 at 3:39 pm

 

नई दिल्ली, शुक्रवार, 23 मार्च 2018 (ऊका समाचार): भारत के कलीसियाई नेताओं ने एक मुसलमान व्यक्ति की हत्या के लिये 11 व्यक्तियों को जेल की सज़ा सुनाई जाने का स्वागत किया है। उनका कहना है कि इससे कि धार्मिक अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ती हिंसा को रोकने में मदद मिले सकेगी।

विगत वर्ष 29 जून को मुसलमान माँस व्यापारी असगर अंसारी की हिन्दू चरमपंथियों ने पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। सिर्फ इसलिये कि उन्हें शक था कि अंसारी के पास गोमाँस था। 21 मार्च को पूर्वी झारखंड राज्य के रामगढ़ जिले में एक फास्ट-ट्रैक अदालत ने अंसारी को मौत के घाट उतारने के दोषी पाए जाने के बाद हिंदू गो-जागरुक नामक चरमपंथी संगठन के 11 व्यक्तियों को सजा सुनाई थी।

उत्पीड़न राहत नामक मानवाधिकार संगठन के निदेशक शिबू थॉमस ने कहा, पहली बार किसी  अदालत ने देश में गाय-संबंधित हिंसा के अपराधियों को दंडित किया है। उन्होंने कहा, यह सजा “गाय जागरूक संगठन और अल्पसंख्यकों पर हमला करनेवालों द्वारा उत्पीड़ित सभी लोगों के लिये एक आश्वासन है कि देश में कानून का शासन विद्यमान है।”

ख्रीस्तीय विरोधी हिंसा के मामलों का जायज़ा लेनेवाले तथा पीड़ितों की रक्षा करनेवाले उत्पीड़न राहत नामक मानवाधिकार संगठन के निदेशक शिबू थॉमस ने कहा, रूढ़िवादी हिंदुओं द्वारा सम्मानित गायों की रक्षा के लिए हिंदू गाय जागरुक नामक चरमपंथी संगठन अनियंत्रित कार्रवाई करता रहा है तथा अल्पसंख्यकों को उत्पीड़ित करता रहा है।

उन्होंने कहा, “अदालत का यह निर्णय युगान्तकारी है, यह केवल एक न्यायिक निर्णय नहीं है। पुलिस विभाग की भी विशेष सराहना की जानी चाहिए जिसने इस मामले में निष्पक्ष और वास्तविक जांच की।”

सिमडेगा के काथलिक धर्माध्यक्ष विन्सेन्ट बरवा ने कहा कि यह निर्णय झारखंड राज्य में धार्मिक अल्पसंख्यकों, विशेष रूप से, ईसाइयों पर हमला करनेवाले हिंसक समूहों के खिलाफ एक निवारक के रूप में काम करेगा। उन्होंने कहा कि सभी को सन्देह था कि चरमपंथी हिन्दू गाय जागरूक संगठन प्रशासन और पुलिस की चुप्पी से समर्थन प्राप्त कर हिंसक कार्रवाई में लगा था किन्तु अदालत के इस फ़ैसले ने यह स्पष्ट दर्शा दिया है कि यदि जाँचपड़ताल कर्त्ता सच्चाई से काम करें तो अपराधियों को न्यायोचित दण्ड दिया जा सकता है।

। उनका कहना है कि इससे कि धार्मिक अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ती हिंसा को रोकने में मदद मिले सकेगी…


(Juliet Genevive Christopher)

%d bloggers like this: